Pitru Paksha 2022 : पितृ पक्ष में अगर आप भी खा रहे हैं यह सारी चीजें, तो इनसे करें परहेज


Pitru Paksha 2022 :   हिंदू धर्म में पितृपक्ष बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है. पितृपक्ष (Pitru Paksha)  के दौरान शरीर त्याग चुके पूर्वजों का श्राद्ध पिंडदान और तर्पण किया जाता है. इस वर्ष पितृपक्ष (Pitru Paksha)  की शुरुआत 10 सितंबर 2022 को हुआ और इसका समापन 25 सितंबर 2022 को होगा. ऐसी धार्मिक मान्यता है की पितृपक्ष के दौरान पूर्वज धरती लोक पर आ जाते हैं. और अपने परिजनों को आशीर्वाद  देते हैं. मान्यताओं के अनुसार पितृपक्ष(Pitru Paksha) में कुछ चीजें खाने  के लिए मना किया गया है. तो चलिए जानते हैं इस आर्टिकल की मदद से वह कौन सी फूड्स हैं इन्हें पितृपक्ष (Pitru Paksha) के दौरान खाने के लिए मना किया गया है.

१.प्याज-लहसुन -  ज्यादातर भारतीय घरों में प्याज लहसुन का इस्तेमाल करीब-करीब हर रोज किया जाता है. वैसे प्याज और लहसुन हमारे शरीर के लिए भी काफी फायदेमंद है. परंतु पितृपक्ष के दौरान प्याज लहसुन खाना मना है.  प्याज और लहसुन की प्रकृति को तामसिक माना जाता है. इसीलिए पितृपक्ष के दौरान प्याज लहसुन खाने के लिए मना किया जाता है.


२.नॉनवेज -  पितृपक्ष के दौरान नॉनवेज खाने से मना किया जाता है. और इस दौरान ना केवल नॉनवेज बल्कि शराब या किसी भी प्रकार के नशे का सेवन करना पूर्णतया वर्जित है.


३.चना -  पितृपक्ष (Pitru Paksha)  के समय के दौरान चना, चना दाल या चना से बनने वाले उत्पादों से भी दूरी बनाकर रखने की सलाह दी जाती है. धार्मिक मान्यताएं हैं की श्राद्ध के दौरान चना दाल या चना से बनने वाले उत्पादों को नहीं खानी चाहिए.


४.कंद वाली सब्जियां - पितृपक्ष (Pitru Paksha)  पितरों को  श्रद्धा पूर्वक नमन करने का समय होता है. इस दौरान  मूली, अरबी जैसी कंद वाली सब्जियों को खाने से परहेज  करने की सलाह दी जाती है. धार्मिक नेताओं के अनुसार पितरों को यह सब्जियां नहीं चढ़ाई जाती. 


५.मसूर दाल - पितृपक्ष (Pitru Paksha) के दौरान पूर्वजों को श्रद्धा पूर्वक नमन करने के लिए श्राद्ध करने की परंपरा है. इस दिन मसूर की दाल का प्रयोग वर्जित है और इसके साथ ही श्राद्ध के दिन दालें, चावल और आटा जैसी कोई भी चीज़ कच्ची नहीं खानी चाहिए.




अगर ये जानकारी आपको पसंद हो तो  शेयर जरूर करें.

Reactions

Post a Comment

0 Comments