उदयपुर मर्डर केस : कन्हैया लाल कौन थे, क्यों मारा गया, जाने उदयपुर हत्याकांड से जुड़ी पूरी जानकारी(Udaipur Murder Case)

उदयपुर मर्डर केस  : कन्हैया लाल कौन थे, क्यों मारा गया, जाने उदयपुर हत्याकांड से जुड़ी पूरी जानकारी(Udaipur Murder Case)


कन्हैया लाल मर्डर केस ( उदयपुर हत्याकांड,उदयपुर की घटना,कन्हैयालाल केस,उदयपुर मर्डर केस,उदयपुर न्यूज़)
Udaipur murder case in hindi (Udaipur hatyakand,udaipur murder case,kahaniya lal family,tailor in udaipur)

राजस्थान के उदयपुर शहर में कन्हैयालाल नाम के व्यक्ति का इस्लामिक आतंकवादियों के द्वारा गला रेत कर हत्या कर दिया गया. इतना ही नहीं हत्या का वीडियो भी बनाया गया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल भी कर दिया गया. इसके साथ ही हत्या करने वाले अपराधियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को भी यही अंजाम भुगतने की धमकी दी.

फिलहाल पुलिस के द्वारा दोनों ही आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है. इस हत्याकांड के विरोध में बुधवार को डूंगरपुर बंद का आवाहन हुआ है. इसमें व्यापारिक संगठन और विभिन्न हिंदू संगठन भी शामिल है. और उसके साथ ही भाजपा के द्वारा भी इस बंद को समर्थन किया गया है. चलिए जानते हैं उदयपुर कन्हैयालाल मर्डर केस के बारे में...



उदयपुर कन्हैयालाल मर्डर केस (Udaipur Muder Case )
राजस्थान के उदयपुर शहर में कन्हैया लाल साहू की अपनी दुकान है. और वह अपनी दुकान पर काम कर रहे थे. किसी भी आरोपी मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद धारदार हथियार छुपाकर कन्हैया लाल साहू की दुकान पर पहुंच गए और उनको अपना नाप लेने के लिए बोले.

और जब कन्हैया लाल साहू नाप लेने लगे. तो अपराधियों ने धारदार हथियार से कन्हैया लाल साहू का गला काट दिया गला काटने के बाद आरोपी वहां से भाग गए. और आरोपियों ने इस घटना का वीडियो रिकॉर्डिंग भी कर लिया.


गला काटे जाने पर जब कन्हैया लाल साहू चिल्लाने लगे तो आसपास के लोग भी दौड़े. जिसमें से ईश्वर सिंह नाम के व्यक्ति ने दोनों अपराधियों का सामना करने का भी प्रयास किया लेकिन अपराधियों के द्वारा नुकसान उनका भी नुकसान कर दिया गया. इस वक्त ईश्वर सिंह हॉस्पिटल में भर्ती है. उसके बाद अपराधियों को लगभग 5 घंटे के भीतर उदयपुर पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया.


कौन है कन्हैया लाल

कन्हैया लाल टेलर का काम किया करते थे. कन्हैया लाल अपने एक बेटे और पत्नी के साथ उदयपुर में रहते थे. कन्हैया लाल ने नूपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट सोशल मिडिया पर किया था. और उसके बाद पुलिस द्वारा उसकी गिरफ्तारी हो गई थी. 15 जून को कन्हैया लाल की जमानत हो गई थी. और उसके बाद ही उसने बताया कि उसे धमकी भरे फोन आने लगे.


उदयपुर में फैला है तनाव
कन्हैया लाल की हत्या की खबर जैसे ही उदयपुर फैली . वैसे ही वहां पर तनाव फैल गया. उसके बाद आक्रोशित लोगों के एक बड़े वर्ग ने सड़कों पर नारेबाजी करना चालू कर दिया. इस तरह के सिचुएशन को देखते ही पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूलने लगे. इस पर गवर्नमेंट ने एक्शन लेते हुए उदयपुर के कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया और गवर्नमेंट के आदेश पर लगभग 24 घंटे के लिए पूरे राजस्थान में इंटरनेट को भी बंद कर दिया.

राजस्थान सरकार ने की सहायता की घोषणा

राजस्थान के उदयपुर में जघन्य हत्याकांड में मारे गए कन्हैया लाल साहू के परिवार वालों को राज्य सरकार के द्वारा 3000000 ₹ का मुआवजा का ऐलान किया गया है. और साथ ही साथ कन्हैया लाल के परिवार के 2  लोगों को संविदा पर नौकरी भी देने की घोषणा की है.


एसआईटी की टीम उदयपुर पहुंची

केंद्र सरकार के आदेश पर एसआईटी की जांच टीम कन्हैया लाल हत्याकांड के जांच के लिए उदयपुर पहुंच गई है.एसओजी एडीजी अशोक राठौर एटीएस आईजी प्रफुल्ल कुमार और एडिशनल एसपी तथा एक सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस भी एसआईटी की जांच टीम में शामिल है.

सरकार ने आदेश दिया है की कन्हैया लाल साहू हत्याकांड के तमाम रिपोर्ट को जल्द से जल्द राज्य सरकार के सामने प्रस्तुत करें.


पोस्टमार्टम में चौंकाने वाले खुलासे
कन्हैया लाल  के पोस्टमार्टम किया जा चुका है. इसमें कई हैरान करने वाली बातें सामने आई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार कन्हैया लाल साहू पर काफी खतरनाक और धारदार हथियार के द्वारा तकरीबन 26 वार किया गया था और उनकी शरीर में हथियारों के 13 कट के निशान हैं. अपराधियों के द्वारा सबसे अधिक बार कन्हैया लाल साहू के गर्दन पर वार किया गया था.


अपराधियों को फांसी दो कल दूसरे को मारेंगे
कन्हैया लाल की अंतिम शव यात्रा में विभिन्न लोगों की काफी बड़ी भीड़ रही और उनकी सब यात्रा में भारी मात्रा में सुरक्षा बल भी गवर्नमेंट के द्वारा प्रदान किया गया था.  उनके परिजनों और पत्नी का काफी बुरा हाल था. उनकी पत्नी ने कहा कि या तो अपराधियों को फांसी दो या उन्हें जिंदा जला दो क्योंकि आज उन्होंने हमारे पति का खून कर दिया है कल यह किसी और व्यक्ति का भी खून करेंगे.


कन्हैया लाल हत्याकांड पर एक नजर

10 जून को कन्हैया लाल के बेटे के द्वारा सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट किया गया.
11 जून को पुलिस के द्वारा कन्हैयालाल के खिलाफ मामला दर्ज हुआ
12 जून को कन्हैया लाल को गिरफ्तार किया गया 
13 जून को कन्हैया लाल साहू को जमानत मिला
15 जून को कन्हैया लाल के द्वारा पुलिस को प्रार्थना पत्र दिया गया कि उन्हें कुछ लोग जान से मारने की धमकी दे रहे हैं. इसलिए उनको सुरक्षा प्रदान किया जाए.
28 जून के दिन राजस्थान के उदयपुर शहर में भूत महल इलाके में अपनी दर्जी की दुकान पर कन्हैया लाल साहू दो अपराधी के द्वारा हत्या की गई.


FQA

Q. उदयपुर में मारे गए कन्हैया लाल का पूरा नाम बताएं ?
Ans. कन्हैया लाल साहू उर्फ़ कन्हैया लाल टेलर नाम है.

Q. कन्हैया लाल साहू की हत्या कब हुई ?
Ans. 28 जून

Q. कन्हैया लाल साहू की हत्या किसने की?
Ans. मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद

Q. कन्हैया लाल  हत्याकांड की जांच कौन सी टीम करेगी?
Ans. एनआईए
Reactions

Post a Comment

0 Comments