शकरकंद मतलब मीठा आलू और उसके फायदे | Sweet potato benefits

शकरकंद मतलब  मीठा आलू और उसके फायदे | Sweet potato benefits

Sweet potato benefits : शकरकंद अर्थात मीठा आलू लोगों का एक बहुत ही पसंद किया जाने वाला फलों में से एक है. इसको खाने मात्र से ही मनुष्य के शरीर में कई प्रकार के फायदे पहुंचते हैं. लोग इसे कई प्रकार से खाते हैं. इसको उबालकर या कच्चा खाना भी लोगों को बहुत भाता है. सबसे पहले इसका पैदावार मध्य और दक्षिणी अमेरिका में हुआ था. और इसके बाद क्रिस्टोफर कोलंबस ने अपने साथ यूरोप के बाकी देशों में 1493 ईस्वी में ले गए. फिलीपींस ने भी इसका आयात सोलवीं शताब्दी के आसपास किया. फिर वहां से इंडोनेशिया,भारत और दक्षिण एशियाई कई देशों में गया. इसकी सबसे बेहतरीन बात यह है,कि यह ज्यादा महंगा नहीं होता है. और कम पैसों में ही लोगों को पौष्टिकता प्रदान करने का यह एक अच्छा स्रोत है.

शकरकंद मतलब  मीठा आलू और उसके फायदे | Sweet potato benefits
 Sweet potato 


शकरकंदी अर्थात मीठा आलू और उसका फायदा

मीठे आलू या शकरकंदी के कई स्वादिष्ट नाश्ते भी बनाए जाते हैं. इससे बने हुए नाश्ता स्वाद के साथ-साथ पौष्टिकता भी प्रदान करता है. ऑरेंज रंग वाली शकरकंद में बीटा कैरोटीन पाया जाता है. इस प्रकार के शकरकंदी का सेवन से  खून में विटामिन ए का स्तर बढ़ता है. यह पौष्टिकता खासकर बच्चों के लिए अति आवश्यक होता है.


कौन सा देश कितना उत्पादन करता है
  • चीन- 81.7 मिलियन टन
  • युगांडा- 2.8 मिलियन टन
  • नाइजीरिया- 2.8 मिलियन टन 
  • इंडोनेशिया- 2.0 मिलियन टन 
  • वियतनाम- 1.3 मिलीयन टन 
  • भारत- 1.1 मिलियन टन आदि

मीठे आलू में मौजूद पोषक तत्व

मीठे आलू में महत्वपूर्ण एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है. मीठे आलू में विटामिन ए के साथ-साथ विटामिन B5 B6 थायमिन, नियासिन, राइबोफ्लेविन, और प्रचूर मात्रा में कैरोटेनोइड्स नामक तत्त्व पाया जाता है. के अलावे भी इसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं...

प्रति सौ ग्राम मीठे आलू में
  • जल- 77 परसेंट
  • प्रोटीन- 1.6 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट- 20.1 ग्राम
  • सुगर - 4.2 ग्राम
  • सुक्रोस- 2.5 ग्राम
  • ग्लूकोस-  1 ग्राम
  • स्टार्च-  12.65 ग्राम
  • फैट -  0.1 ग्राम

मीठे आलू को खाने से लाभ

मीठा आलू केवल नारंगी रंग में ही नहीं आता बल्कि यह सफेद या जामुनी रंग में भी आता है. इसमें आम आलू की तुलना में अधिक चीनी की मात्रा होती है,परंतु इसमें साधारण आलू की अपेक्षा कम कैलोरी और सोडियम पाया जाता है. मनुष्य के दिन भर के विटामिन ए की जरूरत को एक बड़ा आकार का मीठा आलू (Sweet potato ) पूरा कर सकता है. एंटीऑक्सीडेंट का भी काम करता है.और साथ ही कैंसर के रोकथाम के लिए भी काफी लाभदायक होता है. मीठा आलू के सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ती है और इसके अलावा कुछ फायदे इस प्रकार से भी हैं...

हृदय स्वास्थ्य -
मीठा आलू को विटामिन बी6 का बहुत ही अच्छा स्रोत माना जाता है,जो मनुष्य के शरीर में रक्त शिराओं और धमनियों में से होमोसिस्टाइन को कम कर देता है. इसमें पाया जाने वाला पोटेशियम भी हृदय के लिए काफी आवश्यक तत्व है. यह शरीर में फ्लूइड बैलेंस  को बनाए रखने में भी मदद करता है और उच्च रक्तचाप को नियंत्रित रखता है. शरीर में पोटेशियम एक महत्वपूर्ण इलेक्ट्रोलाइट है जिससे की धड़कन नियंत्रण में मदद मिलती है.


कैंसर के रोकथाम
मीठा आलू जो नारंगी रंग का होता है  एंटी- कार्सिनोजेनिक गुण मौजूद होता है. और इसके साथ-साथ इसमें पाया जाने वालाबीटा कैरटिन  औरतों में ब्रेस्ट कैंसर से लड़ने में भी क्षमता को बढ़ाता है. नीले रंग की मीठे आलू की अपेक्षा नारंगी रंग के मीठे आलू में कैंसर रोकथाम की क्षमता अधिक होती है.

बाल एवं त्वचा
शहरी क्षेत्रों में लोगों के लिए प्रदूषण आम बात हो गई है और प्रदूषण का सबसे पहला असर लोगों के बालों और चमड़ी ऊपर ही पड़ता है. इस में पाई जाने वाली विटामिन ए आपको 'सन डैमेज' से बचाता है. और इसमें मौजूद विटामिन बी और विटामिन सी दोनों ही सुंदरता के लिए अति आवश्यक है. इसके नियमित सेवन से चेहरे चमकदार बनते हैं और त्वचा चमकदार और स्वस्थ रहता है.

डायबिटीज और ऊर्जा के नियंत्रण
मीठा आलू में संचित चीनी बहुत धीमे धीमे रक्त में मिश्रित होता है. अन्य स्टार्च  वाले पदार्थ की तरह इसको खाने पर रक्त में शुगर का स्तर में वृद्धि नहीं होता है बल्कि यह रक्त शुगर के आम नियंत्रित स्तर को बनाए रखने में मदद करता है. इसमें पाए जाने वाले मैगनीज और मेटाबोलिक दर को नियंत्रित करने में सहायक होता है नियंत्रित मेटाबोलिक दर एक नियंत्रित मात्रा में ऊर्जा पैदा करता है.

पाचन में सहायक होता है
मीठा आलू में फाइबर मौजूद होता है और इसकी सहायता से ही मनुष्य का पाचन तंत्र स्वस्थ होता है इसके सेवन से शरीर में पाचक एंजाइम बढ़ जाता है और पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में काफी मदद करता है.

तनाव को दूर करने में
इसमें मौजूद मैग्नीशियम शरीर में पहुंचकर शरीर को तनाव मुक्त बना देता है. यह मनुष्य के मस्तिष्क को शांत रखता है और इससे मनुष्य का मन भी दुरुस्त हो जाता है. मस्तिष्क के साथ-साथ धमनिया हड्डियों और मांसपेशियों को भी तनाव रहित रखने में काफी सहायक होता है.


मीठे आलू की स्वास्थ्य संबंधी विशेष जानकारियां
नियमित और संयमित ढंग से इसका सेवन करने से यह अति कारगर साबित होता है. इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रेट की मात्रा के कारण मोटापा बढ़ने लगता है. इसके अधिक सेवन से नाखून नारंगी रंग का हो जाता है वैसे तो यह कोई रोग नहीं होता है. जैसे ही आप मीठा आलू का सेवन कम करते हैं नाखून का रंग समान अवस्था में पुनः आ जाता है.


मीठे आलू का कुछ विशेष तथ्य
मीठा आलू और साधारण आलू दोनों ही जमीन के नीचे का फल होता है. लेकिन साधारण आलू जो होता है वह जमीन के नीचे तना के रूप में रहता है. जिसको अंडर ग्राउंड स्टीम भी कहते हैं. और मीठा आलू जमीन के नीचे जड़ के रूप में होता है.(Disclaimer - इस आर्टिकल में दी गई जानकारी और सलाह केवल सामान्य मान्यताओं पर आधारित है. british4u.com इसकी पुष्टि नहीं करता है.)
Reactions

Post a Comment

0 Comments