Monday, 18 February 2019

सोशल मीडिया पर अफवाह नफरत फैलाने वाले हो जाइए सावधान


पुलवामा के हमले के बाद पिछले दिनों ऐसी घटनाएं सामने आई है ! जिसमें सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों का दुरुपयोग कर ऐसी अफवाहें और भ्रामक सूचनाएं फैलाई जा रही है ! जिससे समाज में तनाव पैदा होने का खतरा मंडराता है ! ऐसे में प्रशासन की तरफ से घड़ी निर्देश दी गई है कि कोई भी झूठे प्रचार अफवाह आदि सोशल मीडिया के माध्यम से ना फैलाएं ! सोशल मीडिया पर पुलवामा हमले की आड़ में लोग समाज को बांटने वाले पोस्ट कर रहे हैं ! और उसे शेयर कर रहे हैं साइबर सेल वालों की नजर उन पर है ऐसा करना साइबर अपराध की श्रेणी में आता है ! इस अपराध में 5 साल तक की कैद और ₹1000000 का जुर्माना किया जा सकता है ! ऐसी तीन घटनाएं महज कुछ उदाहरण है जो बिहार के विभिन्न जिलों में पिछले 3 दिनों में देखने को मिले हैं !दर्जन से अधिक लोग जेल जा चुके हैं और जो ऐसे मैसेज फैला रहे हैं उनकी ट्रैकिंग कर जेल भेजने की तैयारी की जा रही है ! सोशल मीडिया पर लाइक कमेंट और शेयर पाने की चाह रखने वाले वीरों पर कम्युनल स्पीच देने ,अफवाह फैलाने और राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जा रहा है ! ऐसे में सभी से अपील है कि आप समाज को समरस बनाए रखने में अपनी सकारात्मक भूमिका निभायें और सोशल मीडिया पर इन बातों का खास ध्यान रखें :-

1. सोशल मीडिया पर आ रही किसी भी सूचना का सत्यापन कर ले

2. ऐसी पोस्ट ना करें जिससे किसी की भावना आहत हो

3. फेसबुक टि्वटर व्हाट्सएप या ऐसे किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रही अफवाहों को शेयर ट्वीट और पोस्ट ना करें

4. किसी भी सोशल नेटवर्किंग साइड में मित्र समूह वीडियो या पेज लाइक सब्सक्राइब या फोलो करने में सावधानी बरतें और उन्माद फैलाने वाले तत्वों से सावधान रहें

5.यूट्यूब या अन्य किसी वीडियो चैनल पर तनाव उत्पन्न करने वाला वीडियो या फोटो अपलोड डाउनलोड या शेयर ना करें


गृह विभाग ने इस संबंध में स्पष्ट निर्देश और एडवाइजरी जारी कर रखी है !


No comments: