""बिहार बोर्ड ने जारी किया इंटर परीक्षा का एडमिट कार्ड" Sony xperia L3 : 25 फरवरी 2019 को होने वाला है लॉन्च""

Thursday, 17 January 2019

What is one family one job scheme . वन फैमिली वन जॉब स्कीम क्या है


What is one family one job scheme . वन फैमिली वन जॉब स्कीम क्या है


दोस्तों, मैं अमित कुमार रोज की तरह नई जानकारी लेकर आपके सामने उपस्थित हू ! दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं वन फैमिली वन जॉब स्कीम की ! जैसा कि नाम सही पता चलता है वन फैमिली वन जॉब मतलब एक फैमिली में एक व्यक्ति को जॉब स्कीम!
दोस्तों आपको बताते चले कि अभी हाल ही में सिक्किम में यह स्कीम लॉन्च कर दी गई है ! इसके अंतर्गत सिक्किम की सरकार ने वन फैमिली वन जॉब स्कीम शुरू की है सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने यह स्कीम लॉन्च कर 12000 बेरोजगारों को अप्वाइंटमेंट लेटर दिए हैं ! इस योजना के तहत राज्य के प्रत्येक परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी ! रोजगार देने की जिम्मेदारी राज्य के कार्मिक विभाग को दी गई है ! जैसा की सभी जानते हैं दोस्तों की सिक्किम की जनसंख्या 6•4लाख है ! और राज्य सरकार में अस्थाई नौकरी करने वालों की संख्या 100000 से अधिक है ! ऐसे में हर घर से एक नौकरी दिए जाने की स्कीम काफी लाभप्रद होने वाली है !

 इस स्कीम को अच्छा कदम मानते हुए मैं भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से अनुरोध करना चाहूंगा ! कि यदि ऐसा संभव हो तो यह स्कीम पूरे भारत में लागू किया जाए ,ताकि हर घर से एक व्यक्ति को नौकरी मिल सके और हर परिवार आर्थिक रूप से सुदृढ़ और मजबूत बन सके ! ताकि भारत का हर परिवार आर्थिक रूप से इतना मजबूत हो सके कि वह अपना भरण पोषण खुद के कमाए गए पैसे से कर सके अगर हर परिवार में एक व्यक्ति को नौकरी मिल जाए तो हर परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी सुदृढ़ हो जाएगी की वह अपने खान पान रहन सहन और शिक्षा की स्थिति को सुधार पाएगा ! अतः मैं अमित कुमार अपनी साइट www.british4u.com के द्वारा देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से  अनुरोध करता हूं कि वह इस स्कीम को पूरे भारत में लागू करने की कोशिश करें ! मेरा ख्याल है कि इस स्कीम को लागू करने में भारत की तमाम जनता  अपनी सहमति जतागी !

अगर आप लोगों के लिए मांग है कि वन फैमिली वन जॉब स्कीम पूरे भारत में लॉन्च होने चाहिए तो हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताएं और फॉलो करना ना भूलें धन्यवाद !

No comments: